जाकिर नायक का सच ,गृह मंत्रालय की रिपोर्ट के अनुसार

0
77

जबसे जाकिर नाइक पर सरकार ने प्रतिबन्ध लगाया है, तबसे धीरे-धीरे उनके सारे काली करतूतों के चिट्ठे बाहर आ रहे हैं। गृह मंत्रालय ने खुलासा किया है कि कट्टरपंथी इस्लामिक प्रचारक जाकिर नाईक मुसलमानों को आतंकी बनने के लिए प्रेरित करता था। और अपने भाषणों में हिंदू देवी देवताओं के खिलाफ बोला करता था।




सरकार ने हाल ही में जाकिर नाईक के एनजीओ पर पांच साल का प्रतिबंध भी लगा दिया है। मंत्रालय ने इस बात कि पुष्टि की है कि जाकिर नाईक ओसामा बिन लादेन की तारीफ करता था। वह मुसलमानों से कहता था कि वे आतंकी बनें। वह मुसलमानों को दूसरे समुदायों के खिलाफ हमेशा भड़काता था।

गृह मंत्रालय की रिपोर्ट के अनुसार नाईक कहता था कि-

“अगर मुस्लिम चाहते तो 80 प्रतिशत हिंदू रह नहीं पाते।”

मंत्रालय का कहना है कि जाकिर नाईक ने शुरू से दो समुदायों के बीच नफरत फैलाने का काम किया।

हम आपको बता दें कि सरकार ने दो दिन पहले ही जाकिर नाईक के एनजीओ जिसका नाम इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन है पर प्रतिबंध लगाया था। यह प्रतिबंध गैरकानूनी गतिविधियां निरोधक कानून के तहत लगाया गया है। जाकिर नाईक का चैनल पीस टीवी आतंकवाद के प्रचार के लिए इस्तमाल किया जा रहा था। यह चैनल जाकिर नाईक के एनजीओ का है।

Comments

comments