दिल्ली के उपमुख्यमंत्री फ़िनलैंड में बीचों पर घूम रहे, कर रहे है जमकर Enjoy

loading...

नई दिल्ली: जहा एक तरफ पूरी दिल्ली मे चिकनगुनिया और डेंगू का कहर मौत का तांडव मचा रहा है वही दूसरी तरफ आम आदमी पार्टी के मुख्यमंत्री दूसरे राज्यो में तो मंत्री विदेशो में सैर कर रहे है! आज आलम यह है की दिल्ली को राम भरोसे छोड़ दिया गया है! मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल मेडिकल टूरिज्म पर बैंगलोर में हैं तो आखिर दिल्ली के डिप्टी सीएम फिनलैंड में कौन सा जरूरी काम कर रहे हैं?

अगर आम आदमी पार्टी की माने तो मनीष सिसोदिया स्किल डेवलपमेंट कांफ्रेंस में हिस्सा लेने गए है! खबरों की माने तो के मुताबिक असल एजेंडा कुछ और ही है।




हेलसिंकी में हमारे एक सूत्र ने दावा किया है कि वहां के एक बड़े गुरुद्वारे में मनीष सिसोदिया की मुलाकात खालिस्तान समर्थक नेताओं से होनी है। इसी वजह से उनकी यात्रा को कोई पब्लिसिटी नहीं दी गई थी! हर छोटी मोटी बातो पर ट्वीट करने वाले आम आदमी पार्टी के नेता मनीष सिसोदिया ने अभी तक फ़िनलैंड से एक भी तश्वीर पोस्ट नहीं किया है जिसका खास मतलब निकल रहा है की वो गुप्त मिशन पर है और वो भी सरकारी पैसे से!

स्किल डेवलपमेंट सेमिनार के नाम पर खालिस्तानी नेताओ से मुलाकात
जिस स्किल डेवलपमेंट सेमिनार के नाम पर मनीष सिसोदिया फ़िनलैंड गए है वो सिर्फ एक दिन का है और बाकि के 4-5 दिन वो पंजाब चुनाव के मदेनजर खालिस्तानी नेताओ से मुलाकात करेंगे!

वहां पर उनके रहने का बंदोबस्त भी खालिस्तान समर्थकों ने ही किया है! अपने यात्रा के दौरान मनीष सिसोदिया यूरोप स्थित खालिस्तानी नेताओ से मुलाकात करेंगे तभी इतने हो हंगामा होने के वावजूद भी वो अपना दौर रद्द कर भारत नहीं लौट रहे है! और सबसे अहम् बात मानी जा रही है की इन मुलाकातों के जरिये आप पार्टी को विदेशो से मिलने वाले चंदे को वहां से भेजने के तरीके को लेकर बात चित होगी जिससे आसानी से चंद भारत में भेज जा सके!

इस काम के लिए केजरीवाल सिसोदिया के अलावा किसी दूसरे पर भरोसा नहीं करते हैं! जिस गुरुद्वारे में सिसोदिया की बैठकें होनी हैं वो खालिस्तान समर्थकों का अड्डा माना जाता है। यहां जगह-जगह आतंकवादी भिंडरावाले की तस्वीरें लगी देखी जा सकती हैं!

सत्ता पाने के लिए केजरीवाल किसी भी हद्द तक गिर सकते है केजरीवाल
एक बात तो बिलकुल साफ हो चुका है की सत्ता पाने के लिए केजरीवाल किसी भी हद्द तक गिर सकते है और किसी के आगे भी हाँथ फैला सकते है! केजरीवाल पर शुरू से ही खालिस्तानी समर्थक आतंकियों से समर्थन लेने के आरोप लगते रहे है!

दरअसल पंजाब में अगले साल होने वाले चुनाव में आम आदमी पार्टी को पैसो की काफी जरुरत पड़ने वाली है और इस बात को खालिस्तान समर्थक काफी अच्छे से जानते है तभी वो आम आदमी पार्टी में दिलचस्पी ले रहे हैं! आम आदमी पार्टी के सहारे वो राज्य की राजनीति में पर्दे के पीछे से पकड़ बनाने की कोशिश में हैं! यूरोप और दूसरे देशों में कारोबार कर रहे सिख समुदाय के पास पैसे की कोई कमी नहीं है!

इनमें से कई लोगों के पास अच्छी खासी मात्रा में ब्लैकमनी भी है! यही ब्लैकमनी चंदे की शक्ल में आम आदमी पार्टी तक पहुंचाने की बात हो रही है। बदले में इन खालिस्तानी संगठनों की मांग है कि उनकी पसंद के उम्मीदवार उतारे जाएं! कई खालिस्तानी नेताओं ने बाकायदा कैंडिडेट स्पॉन्सर करने की इच्छा भी जताई है!

अगर आपको हमारी पोस्ट अच्छी लगे या इस पोस्ट से सहमत है तो नीचे दिए गए Like बटन से , इस पोस्ट को लाइक करे । धन्यवाद
loading...