क्लिनिक में लड़कियों से डॉक्टर की गंदी हरकतें, इंटरनेट पर वीडियो वायरल

0
148

कोई इतना बत्तमीज कैसे हो सकता है ,,डॉक्टर को भगवान का रूप कहा गया है लेकिन इस कमीने डॉक्टर की हरकत देख गुस्से से लाल हो जायेंगे आप यहां एक प्राइवेट क्लिनिक चलाने वाले यूनानी डॉक्टर अब्दुल अजीज खां ने लड़कियों से जांच के बहाने गलत हरकतें करने के दो वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गए। इस पर आरोपी डॉक्टर के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए विश्व हिंदू परिषद और शिवसेना के पदाधिकारियों ने प्रताप नगर थाने में रिपोर्ट दी है। पुलिस अधिकारी अचल सिंह के अनुसार डॉक्टर के खिलाफ शिकायत मिली है और इसकी जांच कर पीड़ित लड़कियों तक पहुंचने की कोशिश की जा रही है।बेंच पर लिटाने के बाद…

जानकारी के अनुसार, न्यू कोहिनूर सिनेमा व विशाल मेगा मार्ट के सामने सिंधियों की मस्जिद के निकट स्थित ताहा मंजिल में डॉ. अब्दुल अजीज खां का क्लिनिक है।लोगों का आरोप है कि बीयूएमएस होने के बावजूद वह अपने पास आने वाले मरीजों को एलोपैथिक दवाएं देता है।

इसी बीच शुक्रवार को सोशल मीडिया पर दो वीडियो वायरल हुए। इनमें डॉ. अजीज लड़की को इलाज के बहाने क्लिनिक के भीतरी हिस्से में ले जाता हुआ और वहां बेंच पर लिटाने के बाद उसके साथ गलत हरकतें करते दिखाई दे रहा है।वहीं, दूसरी वीडियो में लड़की खुद को असहज महसूस करती नजर आ रही है, लेकिन डॉक्टर उसे खुद से चिपकाकर उसके शरीर पर कई जगह हाथ लगाते दिख रहा है।

डॉक्टर के खिलाफ रिपोर्ट दीदोपहर बाद विश्व हिंदू परिषद के कई पदाधिकारी प्रताप नगर थाने पहुंचे और पुलिस अधिकारियों से इस बारे में बातचीत की। वहीं, शाम को शिवसेना जिला प्रमुख संपत पूनिया ने प्रताप नगर थाने में डॉक्टर के खिलाफ रिपोर्ट दी। थानाधिकारी सिंह ने बताया कि रिपोर्ट से कोई संज्ञेय अपराध घटित नहीं होना पाया गया है। वीडियो में दिखाई दे रही युवती की पहचान करने के बाद वह खुद या उसके परिजन इस मामले में कोई रिपोर्ट देते हैं, तो उसी आधार पर आगे कार्रवाई की जाएगी।

पीड़ित शिकायत दे या नहीं दे, डॉक्टर की हरकतें तो नाजायज ही प्रताप नगर पुलिस ने रिपोर्ट को जांच में रखा है। पुलिस वीडियो में दिखाई दे रही युवती और दो युवकों के बारे में भी छानबीन करेगी। पीड़ित पक्ष से डॉक्टर के खिलाफ रिपोर्ट मिलने पर पुलिस डॉ. अजीज के खिलाफ केस दर्ज करेगी।

कानूनी प्रक्रिया के इतर, शहर में चर्चा इस बात की भी है कि डॉक्टर को लोग भगवान का दर्जा देते हैं। इसलिए डॉ. अजीज की यह करतूत कतई जायज नहीं हो सकती है। ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई भी जरूरी है।

Comments

comments